सविता देवी जाति से भील है. उनके परिवार में 4 सदस्य हैं और उनकी आर्थिक स्थिति भी कमज़ोर

है. सविता देवी के APL के राशन पर खाद्य सुरक्षा का सील होने के बावजूद भी राशन नही मिल रहा

है.

कुछ समय पहले उनके राशन डीलर, समरत सिंह चौहन्ने बिना राशन कार्ड में एंट्री के उन्हे 2 से 3

महिने के अंतराल में राशन देना शुरू किया. परंतु वो 20 kg गेहूँ के रु. 300 रुपये लेता है. सरकर ने

तय किए रेट के हिसाब से 20 kg गेहूँ रु. 40 में मिलना चाहिए. 1 लीटर केरोसिन के रु. 25 अलग से

लेता है जिसक उचित रेट रु. 17. है.

सविता अपने परिवार का भरण-पोषण करने के लिए राशन डीलर को रु. 325 देकर 20 kg गेहूँ और 1

लीटर केरोसिन ले रही है.