प्रेस विज्ञप्ति | 04 मार्च, 2016 

जवाबदेही यात्रा पहुंची नागौर के झाडेली, जायल और परबतसर

10 मार्च को होगा जयपुर में प्रदर्शन

झाडेली, जायल, परबतसर – नागौर

आज सूचना एवं रोजगार का अधिकार अभियान द्वारा चलायी जा रही जवाबदेही यात्रा ने अपने 95 वें दिन नागौर के झाडेली, जायल और परबतसर में सभाएं की. यात्रा ने झाडेली गाँव में रैली निकाल कर बस स्टैंड के पास नुक्कड़ सभा की. उसके बाद जायल और परबतसर में यात्रा ने बाजार में रैली निकालकर कर नुक्कड़ सभाएं की. सभी नुक्कड़ सभाओ में 300 से ज्यादा लोगों ने भाग लिया और जवाबदेही कानून की मांग को लेकर समर्थन किया.

यात्रा से जुड़े वरिष्ठ समाजसेवी शंकर सिंह ने चोरी वाडो घनो हो गयो रे गीत गाकर लोगों को जागरूक किया. उन्होंने बताया की आम नागरिक की कहीं भी सुनवाई नहीं हो रही है लोग राशन पेंशन और नरेगा की मजदूरी के लिए दर दर भटक रहे है. इन जरूरतमंद लोगों की सुनवाई हो और उनकी शिकायत पर कार्यवाही हो. इस हेतु यह 100 दिन की यात्रा निकल रही है जो कि सभी 33 जिलों में जायेगी.

जवाबदेही बिगुल अब बजेगा

सभा को संबोधित करते हुए कमल टांक ने कहा कि सरकारी लोगों को अपनी आय और अन्य सुविधाए जनता द्वारा चुकाएं टैक्स से मिल रहा है पर उसी जनता को सरकारी दफ्तरों में अपने काम के लिए चक्कर लगाने पड़ते है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों को वोट देकर हम सरकार में बिठाते हैं वही लोग सत्ता में आने के बाद हमारी सुनवाई नहीं करते तो फिर इस ढाँचे का क्या मतलब है? उन्होंने कहा कि सरकारी तंत्र की जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए एक मज़बूत कानून की मांग का बिगुल बजाना होगा. जिसके लिए 10 मार्च को जयपुर में बड़ा प्रदर्शन होगा और जब तक ये कानून न लाया जाये तब तक इस लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए कमर कसनी होगी. साथ ही किसानो और मजदूरों की स्थिति पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि सरकारी कर्मचारियों, अधिकारीयों के लिए सरकार ने 7 वेतन आयोग बना दिए परन्तु मजदूरों के लिए आजादी के बाद एक भी मजदूरी आयोग नहीं बनाया है.

नागौर में एक ही आदर्श बालिका विदालय

साथ ही समाज सेवी धन्ना राम ने कहा कि नागौर जिलें में सिर्फ एक बालिका आदर्श विद्यालय है. सरकार का लड़कियों की शिक्षा को लेकर एक तरफ़ा रुझान को बदलने की जरुरत है और बालिका विद्यालयो की व्यवस्था सुधारनी होगी. साथ ही उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा बने अटल सेवा केंद्र और इ मित्र केंद्र पर अधिकतर समय ताला लगा रहता है. जिससे गरीबों को अपने काम करवाने के लिए चक्कर लगाने पड़ते है.

यात्रा कल कोठडी की तरफ जाएगी. जवाबदेही कानून की मांग को लेकर 76763070907676307090 पर मिस कॉल कर सकते है.

सूचना एवं रोज़गार अधिकार अभियान राजस्थान की ओर से

संपर्क – निखिल डे- 94140041809414004180, मुकेश- 468862200, कमल – 94134572929413457292, अमित -0987352210409873522104, हरिओम 94138317619413831761

फ़िरोज़ खान
मीडिया कॉडिनेटर
एच एम् आर सी बारां ।